Sunday, October 2, 2022
Home News

News

प्रधानमंत्री के जन्म दिवस के अवसर पर खुला पत्र लिखा किसान नेता डॉ राजाराम त्रिपाठी ने, रिटर्न गिफ्ट में मांगा “एमएसपी गारंटी कानून”,

पढ़िए पूरा पत्र :-   दिनांक : 17 सितंबर 2002 स्थान : निज सचिवालय, कोंडागांव, आईफा,   माननीय श्री नरेन्द्र मोदीजी, प्रधानमंत्री भारत सरकार, साउथ ब्लॉक, नई दिल्ली -110001   माननीय प्रधानमंत्री जी, *आज...

आजादी के 75 साल भी देश राष्ट्रभाषा के लिए तरस रहा है : डॉ राजाराम त्रिपाठी

  (सभी ने हिंदी को राष्ट्र भाषा बनाने का लिया संकल्प ) कोंडागांव दिनांक 14 सितम्बर दिन बुधवार को हिंदी-दिवस के उपलक्ष्य में "माँ दंतेश्वरी हर्बल...

हिंदी-दिवस पर “विशेष परिचर्चा सत्र” व काव्य-गोष्ठी का भव्य आयोजन

  (सभी ने हिंदी को राष्ट्र भाषा बनाने का लिया संकल्प ) कोंडागांव दिनांक 14 सितम्बर दिन बुधवार को हिंदी-दिवस के उपलक्ष्य में "माँ दंतेश्वरी हर्बल...

” ‘हिंदुई’ से वैश्विक-हिंदी तक की विकास यात्रा में पाश्चात्य विद्वानों का योगदान”

सर्वप्रथम.. 'हिंदी' शब्द को एक विशिष्ट भाषा के रूप में संबोधित करने तथा वर्गीकृत करने का श्रेय पाश्चात्य विद्वानों को ही जाता है। सर्वप्रथम...अंग्रेजों द्वारा...

हा ! हिंदी दुर्दशा देखि न जाई…. 

सितंबर का महीना हिंदी भाषा के लिए महत्वपूर्ण है, कुछेक यह भी कह सकते हैं कि पूरा महीना क्यों? बस हिंदी-पखवाड़ा के पन्द्रह दिन...

Dr. Rajaram Tripathi, several time National awardee Best Farmer and Herbal Scientist unfurled the tricolor National flag of the Govt. District Library on the...

Government District Library's Independence day celebration under the shadow of umbrellas The Amrit-Mahotsav of Independence Day was celebrated with great pomp in the district library,...

Dr. Rajaram Tripathi, several time National awardee Best Farmer and Herbal Scientist unfurled the tricolor National flag of the Govt. District Library on the...

  Government District Library's Independence day celebration under the shadow of umbrellas The Amrit-Mahotsav of Independence Day was celebrated with great pomp in the district library,...

छातों के साए में मना शासकीय जिला ग्रन्थालय का स्वतंत्रता-दिवस

  अमृत महोत्सव के अवसर पर जिला-ग्रंथालय में कलमकार किसान डॉ राजाराम त्रिपाठी के हाथों फहराया गया तिरंगा, जिला ग्रंथालय कोडागांव में स्वतंत्रता दिवस का अमृत-महोत्सव...

“Krishi Moolam Jagat Sarvam i.e Agriculture is the root of the whole world” ” Via “MSP Committee” sad gimmick

  The great glory of agriculture and farmers has been sung in the oriental speech of our country. In the original text 'Krishi Parashar' composed by...

” कृषि मूलम जगत सर्वम ” से “एमएसपी कमेटी” की शोकांतिका नौटंकी तक

  हमारी देश के प्राच्य वांग्मय में कृषि तथा कृषकों की बड़ी महिमा गाई गई है । पराशर नाम के एक महान ऋषि द्वारा रचित मूल ग्रंथ...

मरे नहीं हैं “मुंशी प्रेमचंद” ,वे आज भी जिंदा हैं,,

कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद जी की जयंती पर हुई परिचर्चा ( मुंशी प्रेमचंद जी समाज को एक सूत्र में पिरोने वाले साहित्यकार थे) कोंडागांव 31 जुलाई...

“Kaksaad Award -2022” conferred to renowned filmmaker Amit Mukhopadhyay

Interviewed Dr. Rajaram Tripathi, Bhupesh Tiwari and Teeju Ram Baghel for the Documentary film of the State, Astonished to see the dense crops of black...
- Advertisment -

Most Read

“Noble Foundation” commemorated Dr. Rajaram Tripathi of Bastar with “Swabhimaan Award-2022”

  Dr. Rajaram Tripathi enhanced the honor and self-respect of Bastar and Chhattisgarh, achieved "Swabhiman Award-2022" Dr. Tripathi dedicated the award to his farmer...

“नोबल फाउंडेशन” ने बस्तर के डॉ राजाराम त्रिपाठी को किया सम्मानित,

  डॉ राजाराम त्रिपाठी ने बस्तर तथा छत्तीसगढ़ का बढ़ाया मान तथा स्वाभिमान, हासिल किया "स्वाभिमान अवार्ड-2022" "मां दंतेश्वरी हर्बल समूह" के अपने किसान साथियों तथा...

“Black-Pearl” cultivation is changing ‘Bastar Tribals’ life- A remarkable upliftment

  Bastar's tribal woman farmer Rajkumari Markam wrote a new story of success, The Rajkumari got 40 kg of dry pepper this year from...

“काले-मोतियों की खेती से धीरे धीरे बदल रही बस्तर के आदिवासियों की जिंदगी,”

  बस्तर की आदिवासी महिला किसान राजकुमारी मरकाम ने लिखी सफलता की नई इबारत, साल के 20 पेड़ों पर...