छातों के साए में मना शासकीय जिला ग्रन्थालय का स्वतंत्रता-दिवस

0
253

 

अमृत महोत्सव के अवसर पर जिला-ग्रंथालय में कलमकार किसान डॉ राजाराम त्रिपाठी के हाथों फहराया गया तिरंगा,

जिला ग्रंथालय कोडागांव में स्वतंत्रता दिवस का अमृत-महोत्सव धूमधाम से मनाया गया। बस्तर में कई दिनों से जारी घनघोर बरसात आज सुबह भी जारी थी। लेकिन तेज बरसात की बौछारें भी लोगों के जोश को कम नहीं कर पाई। सुबह सात बजे ही जिला ग्रंथालय के सभी अधिकारी कर्मचारी छाता लेकर डट गए थे। परिसर को भलीभांति सजाअर रोशनी की झालरें लगाई गई थी। देश के 76 वें स्वतंत्रता-दिवस के इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि देश के सर्वोत्कृष्ट किसान का अवार्ड लगातार तीन बार पाने वाले, अंतरराष्ट्रीय हरित योद्धा, वरिष्ठ लेखक संपादक डॉ राजाराम त्रिपाठी थे।

उल्लेखनीय है कि डॉक्टर त्रिपाठी आयुष मंत्रालय भारत सरकार के “औषधीय पादप बोर्ड” तथा “भारतीय गुणवत्ता संस्थान” (BIS) के सदस्य सहित कई संस्थाओं के प्रमुख हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला ग्रंथालय कोडागांव की प्रभारी ग्रंथपाल लालिमा सोनी ने की। कार्यक्रम के प्रारंभ में में डॉ राजाराम त्रिपाठी ने ध्वजारोहण किया तथा राष्ट्र ध्वज को सलामी दी। राष्ट्रगान तथा जोशोले नारों के उद्घोष के बाद, मुख्य अतिथि डॉ त्रिपाठी ने अपने संक्षिप्त उद्बोधन में घनघोर बरसात में भी इस आयोजन को सफल बनाने हेतु पूरे जोशोखरोश से जुटे जिला ग्रंथालय के सभी कार्यकर्ताओं की सराहना करते हुए कहा कि, स्वतंत्रता अनमोल होती है, तथा अपने देश की स्वतंत्रता को सदैव अक्षुण्ण बनाए रखने के लिए ऐसे ही बलिदानी जज्बे की जरूरत है। इस आयोजन को सफल बनाने में जिला ग्रंथालय की प्रमुख लालिमा सोनी के साथ प्रशांत विश्वकर्मा, श्रीमती मधुलिका सोरी, अक्षय मंडावी, प्रमोद नेताम, मेहनत नेताम का विशेष योगदान रहा। कार्यक्रम में सी एल मंडावी (बीईओ), इरशाद अंसारी, रूपेश नाग, सतीश सोरी, श्रीमती साधना लोन्हारे , रामलाल नेताम (एडीओ), रविंद्र तुरकर, के अलावा लाइब्रेरी के नियमित पाठक भूपेश साहू तथा योगेश चिंडा की उल्लेखनीय उपस्थिति रही।
आयोजन के अंत में सभी अतिथियों को मिष्ठान्न वितरण भी किया गया, तथा विभाग प्रमुख लालिमा सोनी के द्वारा सभी अतिथियों, अधिकारियों , कर्मचारियों, पाठकों, गणमान्य नागरिकों को धन्यवाद दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here